Home Knowledge World Population Day: आज विश्व जनसंख्या दिवस है, जानिए क्यों मनाया जाता...

World Population Day: आज विश्व जनसंख्या दिवस है, जानिए क्यों मनाया जाता है? क्या है इसका इतिहास?

World Population Day 2021: आज 11 जुलाई को पुरे विश्व में जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। हर वर्ष 11 जुलाई को ही पुरे विश्व में जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व जनसंख्या दिवस पर पूरी दुनिया में जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए कई प्रकार के नियमों और कार्यक्रमों से लोगों को जागरूक किया जाता है। इसके अलावा परिवार नियोजन के मुद्दे पर लोगों से बातचीत की जाती है। आइए जानते हैं क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड पॉपुलेशन डे और क्या है इसका इतिहास?

क्यों मनाया जाता है विश्व जनसंख्या दिवस?

यूनाइटेड नेशन ने 11 जुलाई 1989 को आम सभा में ‘ World Population Day’ मनाने का फैसला लिया था। दरअसल 11 जुलाई 1987 तक वर्ल्ड पॉपुलेशन का आंकड़ा 5 अरब के भी पार पहुंच चुका था। तब दुनिया भर के लोगों को बढ़ती आबादी के प्रति जागरूक करने के लिए इसे वैश्विक स्तर पर मनाने का फैसला लिया गया था।

- Advertisement -

इस वर्ष की थीम क्या है?

हर साल विश्व जनसंख्या दिवस एक विशेष थीम के साथ मनाया जाता है। विश्व जनसंख्या दिवस 2021 की थीम है- “अधिकार और विकल्प उत्तर हैं: चाहे बेबी बूम हो या बस्ट, प्रजनन दर में बदलाव का समाधान सभी लोगों के प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों को प्राथमिकता देना है”

इस दिवस को मनाने का उद्देश्य –

इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य दुनियाभर में बढ़ती आबादी से जुड़ी समस्‍याओं के प्रति लोगों को जागरुक करना है। भारत के लिए भी बढ़ती हुई आबादी कई समस्याओं का कारण बनती जा रही है। जनसंख्या वृद्धि भुखमरी का सबसे बड़ा कारण है। भारत और चीन जैसे विकासशील देश अपनी आबादी और जनसंख्या के बीच तालमेल बैठाने में चिंतित हैं, तो विकसित देश पलायन और रोजगार की चाह में बाहर से आकर रहने वाले शरणार्थियों की वजह से परेशान हैं। यही वजह है कि दुनिया भर में जागरूकता फैलाने के लिए यह दिवस मनाने का निर्णय लिया गया।

विश्व जनसंख्या दिवस का इतिहास –

दुनिया भर में हर साल 11 जुलाई को ‘वर्ल्ड पॉप्यूलेशन डे’ यानि की विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1989 में यूनाइटेड नेशन की आम सभा से हुई। दरअसल 11 जुलाई साल 1987 में जनसंख्या का आंकड़ा 5 अरब के भी पार पहुंच गया था। तभी लोगों को बढ़ती आबादी के प्रति जागरूक करने के लिए इसे वर्ल्ड लेवल पर मनाने का फैसला किया गया। हर राष्ट्र में इस दिन का विशेष महत्व है, क्योंकि आज दुनिया के हर विकासशील और विकसित दोनों तरह के देश जनसंख्या विस्फोट से चिंतित हैं।

ऐसे मनाया जाता है वर्ल्ड पॉपुलेशन डे –

विश्व जनसंख्या दिवस पर पूरी दुनिया में पॉपुलेशन कंट्रोल करने के लिए तरह-तरह से नियमों से लोगों को परिचित कराया जाता है। इसके अलावा परिवार नियोजन के मुद्दे पर लोगों से बातचीत की जाती है। इस दिन जगह-जगह जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रमों के जरिए लोगों को जागरूक करने की कोशिश की जाती है। जेंडर इक्वलिटी, मां और बच्चे का स्वास्थ्य, जेंडर एजुकेशन, गर्भनिरोधक दवाओं के इस्तेमाल से लेकर यौन संबंध जैसे सभी गंभीर विषयों पर लोगों से खुलकर चर्चा की जाती है।

बता दें कि चीन के बाद भारत में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी है। जहां दुनिया के 18.47 प्रतिशत में चीन का योगदान है, वहीं भारत वैश्विक आबादी के 17.70 प्रतिशत हिस्से को साथ भी पीछे नहीं है। वर्ल्डोमीटर के आंकडों के अनुसार, भारत के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका की पूरी दुनिया की आबादी का 4.25 प्रतिशत हिस्सा है।

Most Popular

Notifications    OK No thanks