Home News AICTE: इंजीनियरिंग के लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स हैं जरूरी, जानें पूरी...

AICTE: इंजीनियरिंग के लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स हैं जरूरी, जानें पूरी कहानी चेयरमैन के जुबानी

AICTE : हाल ही में इंजीनियरिंग को लेकर ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने एक बड़ी घोषणा की थी, जिसमें जो छात्र इंजीनियरींग करना चाहते हैं उनके लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स ऑप्शनल विषय है, लेकिन प्रशासंन ने अब अपने इस फैसले से यूटर्न ले लिया है, यहां यूटर्न का मलतब है की चैयरमेन ने कहा ही कि इंजीनियरिंग के कुछ कोर्सेज के लिए ही ये घोषणा की गई है।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में AICTE के चेयरपर्सन अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा कि बायोटेक्नोलॉजी, टेक्सटाइल या एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग जैसे इंजीनियरींग कोर्सेज के लिए कक्षा 12वीं में इस विषयों पर विकल्प करने का चयन है।

PCM है जरूरी :

वहीं मैकेनिकल इंजीनियरिंग जैसे स्ट्रीम के लिए भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित महत्वपूर्ण विषय बने रहें।

- Advertisement -

AICTE ने शुक्रवार को नोटिफिकेशन जारी करके घोषणा की थी कि इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए 12वीं में मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री अनिवार्य विषय नहीं होंगे। अब काउंसिल के चेयरपर्सन अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा है कि एआईसीटीई ने यह निर्णय विश्वविद्यालयों और इंजीनियरिंग संस्थानों के ऊपर छोड़ दिया है।

अंतिम निर्णय शिक्षण संस्थानों पर :

सहस्रबुद्धे ने कहा, कोई छात्र नए मानदंडों और एआईसीटीई की हैंडबुक में उल्लिखित 14 विषयों- भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी, जीव विज्ञान, सूचना विज्ञान अभ्यास, जैव प्रौद्योगिकी, तकनीकी व्यावसायिक विषय, इंजीनियरिंग ग्राफिक्स, व्यावसायिक अध्ययन और उद्यमिता) का अध्ययन करता है तो उसे इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम में दाखिला दिया जा सकता है। हालांकि, अंतिम निर्णय अभी भी कॉलेज या संस्थान के हाथ में होगा। नए एपीएच में यह भी कहा गया है कि संस्थान और विश्वविद्यालय छात्रों की मदद करने के लिए ब्रिज कोर्स की पेशकश भी कर सकते हैं।

Most Popular

Notifications    OK No thanks