Home News राष्ट्रपति ने 12 केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों की नियुक्ति को दी मंजूरी,...

राष्ट्रपति ने 12 केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों की नियुक्ति को दी मंजूरी, शिक्षा मंत्रालय ने दी ये अहम जानकारी

Vice Chancellor Appointments: राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने 12 सेंट्रल यूनिवर्सिटीज के कुलपतियों की नियुक्ति को मंजूरी दी है। शिक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, “राष्ट्रपति ने 12 विश्वविद्यालयों के लिए कुलपतियों की नियुक्ति को स्वीकृति दी है।

इन विश्वविद्यालयों में हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू, झारखंड, कर्नाटक, तमिलनाडु और हैदराबाद के केंद्रीय विश्वविद्यालय शामिल हैं। इनके अलावा दक्षिण बिहार (गया) का केंद्रीय विश्वविद्यालय, मणिपुर विश्वविद्यालय, मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय, नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी और बिलासपुर का गुरु घासीदास विश्वविद्यालय भी शामिल हैं जिनके लिए कुलपतियों की नियुक्ति की गई है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बृहस्पतिवार को राज्य सभा को सूचित किया था कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुलपतियों के 22 पद रिक्त हैं जिनमें से 12 पदों के लिए नियुक्तियों पर विजिटर द्वारा पहले ही अंतिम निर्णय ले लिया गया है।

- Advertisement -

लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानितकर बनीं महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय की कुलपति

महाराष्ट्र के राज्यपाल व राज्य के विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति भगत सिंह कोश्यारी ने हाल ही में लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी राजीव कानितकर को महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय का कुलपति नियुक्त किया। राजभवन के एक अधिकारी ने विज्ञप्ति में कहा कि लेफ्टिनेंट जनरल कानितकर, पीवीएसएम, एवीएसएम को 5 वर्ष की अवधि या 65 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक कुलपति के रूप में नियुक्त किया गया है। वह रक्षा मंत्रालय में इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ (मेड) में उप प्रमुख के रूप में कार्यरत हैं।

विज्ञप्ति में कहा गया है, ”लेफ्टिनेंट जनरल कानितकर का जन्म 15 अक्टूबर 1960 को हुआ था। उन्होंने पुणे के सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री हासिल की थी और विश्वविद्यालय में टॉप किया था। उन्होंने एमडी पीडियाट्रिक्स और डीएनबी पीडियाट्रिक्स की भी डिग्री प्राप्त की। उन्होंने जनवरी 2017 से मई 2019 तक एएफएमसी डीन के रूप में कार्य किया और उन्हें शिक्षण और अनुसंधान में 22 वर्षों का अनुभव है। उन्हें 2008 में एमयूएचएस द्वारा सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार प्रदान किया गया था। वह डॉक्टर दिलीप म्हासेकर की जगह लेंगी, जिनका कार्यकाल 10 फरवरी को खत्म हो चुका है।

Most Popular

Notifications    OK No thanks