Home University Admissions RTE Admission 2021-22: इन राज्यों के निजी स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के...

RTE Admission 2021-22: इन राज्यों के निजी स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के लिए आज से आवेदन प्रक्रिया शुरू, 30 जून तक कर सकते है अप्लाई

शिक्षा का अधिकार (आरटीई) के तहत नए सत्र 2021-22 के लिए निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए आज से आवेदन किए जा सकेंगे, इसके लिए अंतिम दिनांक 30 जून रहेगी। आनलाइन लाटरी छह जुलाई को निकाली जाएगी। प्रवेश प्रक्रिया में कोविड-19 से माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु के कारण अनाथ हुए बच्चों को ऑनलाइन लॉटरी में प्राथमिकता दी जाएगी, जबकि बीते सत्र में जो बच्चे प्रवेश के पात्र थे। उनकी आयु की गणना 2020 के हिसाब से की जाएगी।

राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा आनलाइन आवेदन पत्र पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in/Rte Portal पर ऑनलाइन आवेदन-पत्र का प्रारूप उपलब्ध कराया गया है। वंचित समूह एवं कमजोर वर्ग के आवेदक अपना आवेदन ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से 10 से 30 जून तक जमा कर पंजीयन कर सकते हैं। फार्म के साथ पात्रता संबंधित कोई भी एक दस्तावेज अपलोड करना होगा। आवेदकों को इसी अवधि के दौरान दस्तावेजों का सत्यापन संबंधित संकुल केन्द्र वाले स्कूल में अधिकृत सत्यापनकर्ता अधिकारी से करवाना होगा। जिसमें केटेगरी और निवास प्रमाण का सत्यापन मूल प्रमाण-पत्र से होगा। आरटीई आवेदन में किसी भी प्रकार की परेशानी आने पर संबधित विकासखंड के बीआरसी कार्यालय में संपर्क करना होगा।

छह जुलाई को खुलेगी लाटरी
प्राप्त आवेदनों की जांच करने के बाद छह जुलाई 2021 को लाटरी के माध्यम से छात्रों को निजी स्कूलों में सीट का आवंटन किया जायेगा। लॉटरी प्रक्रिया के बाद आवंटित सीट की जानकारी आवेदक को उसके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से दी जायेगी। सूची आरटीई पोर्टल पर भी उपलब्ध रहेगी। साथ ही स्कूल आवंटन की जानकारी बीआरसीसी कार्यालय के सूचना पटल पर भी लगाई जाएगी।

- Advertisement -

यह रहेगी उम्र की सीमा
नर्सरी, केजी 1 और केजी 2 कक्षाओं में प्रवेश के लिये न्यूनतम आयु 3 से 5 वर्ष और कक्षा 1 में प्रवेश के लिये न्यूनतम आयु 5 वर्ष से अधिकतम 7 वर्ष तक तय की गई है। आयु के संबंध में मूल दस्तावेज से मिलान न होने या मूल प्रमाण पत्र प्रस्तुत न कर पाने पर आवेदक को अपात्र माना जाएगा। सत्र 2021-22 में प्रवेश के लिये आवेदक की आयु की गणना 16 जून 2021 की स्थिति में की जायेगी।

बीते साल के पात्र बच्चों को राहत
अधिकारियों के अनुसार कोविड-19 के कारण सत्र 2020-21 के प्रवेश नही हो पाये थे, लेकिन आरटीई प्रा‍विधान के तहत जो बच्चे सत्र 2020-21 के लिये पात्र थे, उन पात्र बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा, इसलिए वे जिन आवेदकों द्वारा बीते सत्र 2020-21 के लिये आवेदन किये जायेंगे, उनकी आयु की गणना 16 जून 2020 की स्थिति से की जायेगी। लेकिन बच्चे इस साल अगली कक्षा में पढाई करने का मौका मिलेगा।

Most Popular

Notifications    OK No thanks